कंजंक्टिवाइटिस (Conjunctivitis) : प्रकार, लक्षण, कारण, बचाव

आंखे आना या पिंक आई आंखों से जुड़ी ऐसी ही एक सामान्य समस्या है, जिसे चिकित्सीय भाषा में कंजक्टिवाइटिस कहते हैं।

लक्षण - आंखों का लाल या गुलाबी दिखाई देना,आंखों में जलन या खुजली होना,आसामान्य रूप से अधिक आंसू निकलना।

कैसे रोकें

- बार बार हाथ धोएं - घर में अलग अलग टॉवल इस्तेमाल करे - तकिया में बदलाव करें  

कंजक्टिवाइटिस को फैलने से रोकने के लिए साफ-सफाई रखना सबसे जरूरी है, इसके अलावा इन बातों का ध्यान भी रखें: – अपनी आंखों को अपने हाथ से न छुएं। – जब भी जरूरी हो अपने हाथों को धोएं। – अपनी निजी चीजों जैसे तौलिया, तकिया, आई कॉस्मेटिक्स (आंखों के मेकअप) आदि को किसी से साझा न करें। – अपने रूमाल, तकिये के कवर, तौलिये आदि चीजों को रोज़ धोएं।

संक्रमण को फैलने से कैसे रोकें?

एलर्जिक कंजक्टिवाइटिस में बाकी लक्षणों के साथ आंखों में सूजन भी आ जाती है। इसलिए इसके उपचार में एंटी हिस्टामिन आई ड्रॉप्स के साथ एंटी इन्फ्लैमेटरी आई ड्रॉप्स भी दी जाती हैं