जानकारी

बाल दिवस भारत जानकारी

Children's Day India in Hindi

बच्चों के अधिकारों, देखभाल और शिक्षा के बारे में जागरूकता बढ़ाने के लिए पूरे भारत में बाल दिवस मनाया जाता है. यह हर साल 14 नवंबर को भारत के प्रथम प्रधानमंत्री, जवाहरलाल नेहरू को श्रद्धांजलि के रूप में मनाया जाता है.

इस दिन भारत के हर स्कूल में कार्यकर्म का आयोजन किया जाता है जिसमे डांस, भाषण,और विशेष प्रकार कार्यकर्म का आयोजन किया जाता हे.

बाल दिवस की जानकारी

नियंत्रित – भारत सरकार
प्रकार – नेशनल
महत्व – बच्चों के अधिकारों, देखभाल और शिक्षा के बारे में जागरूकता बढ़ाना
तारिक – 14 नवंबर (प्रति वर्ष)

श्री जवाहरलाल नेहरू का जन्मदिन 14 नवंबर 1889 को प्रयागराज उत्तरप्रदेश में हुआ था. जवाहरलाल नेहरू भारत के प्रथम प्रधान  मंत्री थे, उसके साथ साथ वह भारत के प्रमुख नेताओ में से एक थे. बहुत प्रतिभाशाली होने के कारण उनका नाम जवाहर लाल रखा गया. उन्होंने अपनी बाद की शिक्षा इंग्लैण्ड से ग्रहण की और भारत लौटने के बाद उन्होंने भारतियों की मदद करना शुरु कर दी ओर उसके बाद भारत की आजादी के लिये संघर्ष करना शुरु कर दिया.

बाल दिवस को भारत तथा बाकि देशो में भी मनाया जाता है. पर इसकी तारिक अलग अलग होती है. इसका मुख्य उद्देश्य बच्चो के अधिक व उनकी देखभाल करना ओर उनको शिक्षा के अधिकार बारे में जागरूक करना है. 1925 में जिनेवा में पहली बार अंतर्राष्ट्रीय बाल दिवस घोषित कि गयी थी.

बाल दिवस का महत्व

  • यह तो हम सब जनता है की 14 नवंबर को भारत में बाल दिवस मानते है,यह दिन पूरी तरह बच्चों पर मनाया जाता है. इस दिन का महत्व इसलिए सबसे ज्यादा हे क्युकी बच्चों को देश का भविष्य माना जाता ओर उनकी शिक्षा और उनके आधिकारो की रक्षा करना हमारा फर्ज़े है. हमे और हमारा समाज जो इस बात कई लिया जागृत होना ताकि कोई व्यक्ति उनका शोषण नही कर पायेगा।
  • यह तो हम सभी जानते हे की आज भी बहोत सी जगह पर बाल अधिकारों के हनन, बाल मजदूरी और शोषण जैसी घटना होती रहती है. कुछ ऐसी ही घटना को रोकने के लिया हम बाल दिवस मानते है . यही इस दिन का सबसे बड़ा महत्व है.

हमे बाल दिवस कैसा मानना चाहिए

  • हमे बच्चों को चॉकलेट या उपहार देना चाहिए, जो की बच्चों को बहोत पसंद आता है.
  • हमे विभिन विभिन्न प्रतियोगिताओं का आयोजन करना चाहिए ,जैसा की भाषण, संगीत,खेल -कूद, कहानी ओर कुछ अन्य
  • प्रतियोगिताओं का आयोजन करना चाहिए.
  • हमे अनाथ व गरीब बच्चों को किताबे,कपडे व् खिलौना आदि का वितरण करना चाहिए, ताकी उन बच्चों मदद हो पाय.
  • हमे इस दिन को पूरी तरह इस देश के भविष्य को देना चाहिए, जी, है बच्चे ही इस देश का भविष्य.

बाल दिवस पर कविता

चाचा नेहरु ने देखे थे,
नव भारत के सपने,
सपने पूरे कर सकते थे,
उनके बच्चे अपने.

ऐसी शिक्षा हमें आपसे
ऐसी शिक्षा हमें आपसे
मिली यही सौभाग्य हमारा
मरकर भी हो गया अमर जो
चाचा नेहरू सबका प्यारा

शालाओं में भी होते हैं,
नये नये आयोजन,
जिन्हें देख आनंदित होते,
हम बच्चों के तन मन.

कुछ देशो की बाल दिवस की तिथि

दिन ओर समयदेश
जनवरी का पहला शुक्रवारबहामा
11 जनवरीट्यूनीशिया
जनवरी का दूसरा शनिवारथाईलैंड
फरवरी का दूसरा रविवारकुक आइलैंड्स,नौरू,नीयू,टोकेलौ,केमैन आइलैंड्स
13 फरवरीम्यांमार
मार्च का पहला रविवारन्यूजीलैंड
17 मार्चबांग्लादेश
4 अप्रैलताइवान,हाँग काँग
5 अप्रैलफिलिस्तीन
12 अप्रैलबोलीविया,हैती
23 अप्रैलतुर्की
30 अप्रैलमेक्सिको
5 मईदक्षिण कोरिया,जापान
मई का दूसरा रविवारस्पेन,यूनाइटेड किंगडम
10 मईमालदीव
17 मईनॉर्वे
27 मईनाइजीरिया
मई का अंतिम रविवारहंगरी
जून का दूसरा रविवारसंयुक्त राज्य अमेरिका
25 जूनसीरिया
1 जुलाईपाकिस्तान
जुलाई का तीसरा रविवारक्यूबा,पनामा,वेनेजुएला
29 जुलाईकोलंबिया
16 अगस्तपरागुआ
अगस्त का तीसरा रविवारअर्जेंटीना,पेरू
9 सितंबरकोस्टा रिका
10 सितंबरहोंडुरस
भद्रा २ ९नेपाल
20 सितंबरऑस्ट्रिया,जर्मनी
25 सितंबरनीदरलैंड
1 अक्टूबरअल सल्वाडोर,ग्वाटेमाला,श्रीलंका
अक्टूबर का पहला शुक्रवारसिंगापुर
8 वें चंद्र महीने का 15 वां दिनवियतनाम
8 अक्टूबरईरान
12 अक्टूबरब्राज़िल
अक्टूबर का चौथा शनिवारमलेशिया
अक्टूबर का चौथा बुधवारऑस्ट्रेलिया
नवंबर का पहला शनिवारदक्षिण अफ्रीका
11 नवंबरक्रोएशिया
14 नवंबरभारत
5 दिसंबरसूरीनाम
23 दिसंबरदक्षिण सूडान,सूडान

Leave a Reply

Your email address will not be published.

Back to top button