जानकारी

प्रधानमंत्री आवास योजना जानकारी – Pradhan Mantri Awas Yojana

Pradhan Mantri Awas Yojana in Hindi

प्रधानमंत्री आवास योजना (Pradhan Mantri Awas Yojana)

देश में कई ऐसे लोग हैं जो आज के समय में भी झुग्गी–बस्तियों में रहकर अपना जीवन व्यापान कर रहे हैं. जिन लोगों की आर्थिक स्थिति खराब होने की वजह से उन्हें मजबूरन अपनी जिंदगी सड़को के किनारे काटनी पड़ती है. इन सभी लोगों के पास पैसे न हो पाने की वजह से ये अपना घर बनाने में सक्षम नहीं हो पाते. ऐसे लोगों के लिए देश के माननीय प्रधानमंत्री श्री नरेंद्र मोदी जी द्वारा 25 जून 2015 को प्रधानमंत्री आवास योजना को शुरू किया गया. योजना के तहत सरकार गांव और शहरों के क्षेत्रों में जो गरीब लोग कच्चे मकान में अपना गुजारा कर रहे हैं ऐसे नागरिकों को पक्के मकान उपलब्ध कराने की दृष्टि से सरकार ने ये योजना चलाई है.

सरकार का लक्ष्य 4 करोड़ पक्के मकान बनाने का है. प्रधानमंत्री आवास योजना में अभी तक 1.26 करोड़ पक्के मकान का कार्य पूरा किया जा चुका है. राज्य में जितने भी कमज़ोर, गरीब और निम्न वर्ग के लोग हैं, उन सभी को मकान के निर्माण के लिए सरकार 6 लाख तक का लोन प्रदान करेगी. यह लोन 3 6. से 6.50% सब्सिडी में 20 साल की अवधि पर दिया जाएगा. जिससे नागरिकों को लोन का भुगतान करने के लिए समय मिल जायेगा.

अगर आप भी इस योजना में आवेदन करना चाहते हैं तो इसके लिए आपको योजना की आधिकारिक वेबसाइट pmaymis.gov.in पर जाकर आवेदन करना होगा.

इस योजना के अंतर्गत केंद्र सरकार और राज्य सरकार दोनों एकजुट होकर कार्य करती हैं और साथ में काम करके देश के गरीब नागरिकों को लाभ प्रदान करती हैं. प्रधानमंत्री आवास योजना के तहत सरकार द्वारा गरीब लोगों के हित के लिए हर वो प्रयास किया जा रहा है, जिससे उन्हें किसी भी प्रकार की परेशानी का सामना न करना पड़े. वे लोग जो झुग्गी–झोपड़ियों जैसे कच्चे मकानों में रह रहे हैं, उन्हें सरकार पक्के मकान बनाने के लिए कम ब्याज पर ऋण प्रदान करेगी. यह लोन राशि लाभार्थी के बैंक खाते में ट्रांसफर की जाएगी.

प्रधानमंत्री आवास योजना, जानिए किन लोगों को मिलेगा फायदा, और क्या हैं शर्ते, अपने घर का सपना पूरा करने के लिए आप ऐसे आवेदन कर सकते हैं.

प्रधानमंत्री आवास योजना देश के सभी ऐसे लोगों को जो की झुग्गी–झोपड़ियों में रहते हैं और जिनके पास उनका खुद का घर नहीं है, उनको 2022 तक उनका घर उपलब्ध करवाने के लक्ष्य के साथ प्रधानमंत्री आवास योजना (ग्रामीण) देश के 669 जिलों में कीर्यानवित की जा रही है, योजना के तहत सरकार बेघर लोगों को घर बनाकर देती है, साथ उन लोगों को सब्सिडी देती है जो लोग लोन पर घर या फ्लैट खरीदते हैं. घर खरीदने और उसके निर्माण के लिए पात्र शहरी गरीबों को होम लोन पर क्रेडिट लिंक सब्सिडी मिलती है. वहीं अगर आपने हाल ही में घर या फ्लैट खरीदा है तो आप अपने घर पर लिए गए लोन के के लिए लगने वाले ब्याज पर सरकार द्वारा दी जाने वाली सब्सिडी का लाभ ले सकते हैं. इससे आपकी लागत घट जाएगी और आपको काफी लाभ होगा.

आवेदन करने के लिए गूगल के प्ले स्टोर से डाउनलोड करे एप्लीकेशन:

प्रधानमंत्री आवास योजना ग्रामीण के तहत सरकार ने मोबाइल आधारित आवास ऐप बनाया है और इसे गूगल के प्ले स्टोर से डाउनलोड किया जा सकता है. डाउनलोड करने के बाद आपको मोबाइल नंबर की सहायता से लॉग इन आईडी बनानी होगी, इसके बाद इस एप से आपको वन टाइम पासवर्ड यानी ओटीपीपी भेजा जाएगा जिसकी मदद से लॉग इन करने के बाद आवश्यक जानकारियों को भरना होता है. प्रधानमंत्री आवास योजना ग्रामीण के तहत घर पाने के लिए आवेदन करने के बाद केंद्र सरकार लाभार्थियों का चुनाव करती है. इसके बाद लाभार्थियों की फाइनल लिस्ट प्रधानमंत्री आवास योजना ग्रामीण की वेबसाइट पर डाल दी जाती है.

 प्रधानमंत्री आवास योजना का किन लोगों को होता है फायदा:

प्रधानमंत्री आवास योजना का लाभ पहले सिर्फ गरीब लोगों के लिए ही था, लेकिन अब हम लोन की रकम बड़ाकर शहरी इलाकों के गरीब और मध्यम वर्ग के लोगों को भी इस दायरे में लाया गया है. प्रारंभ में प्रधानमंत्री आवास योजना में होम लोन की रकम 3 से 6 लाख रुपए तक थी, जिस पर ब्याज पर सब्सिडी दी जाती थी. अब इसे 18 लाख तक कर दिया गया है. योजना का लाभ लेने के लिए आवेदक की उम्र 18 से 55 साल होनी चाहिए. अगर परिवार के मुखिया या आवेदक की उम्र 50 साल से अधिक है, तो उसके प्रमुख कानूनी वारिस को होम लोन में शामिल किया जाएगा. ईडब्ल्यूएस (निम्न आर्थिक वर्ग) के लिए सालाना घरेलू आमदनी तीन लाख रुपए राय है. एलआईजी (कम आय वर्ग) के लिए सालाना आमदनी 3 से 6 लाख रुपए होनी चाहिए. अब 12 से 18 लाख आमदनी वाले व्यक्ति भी इसका लाभ उठा सकते हैं.

प्रधानमंत्री आवास योजना की शर्तें: Pradhan Mantri Awas Yojana sharte

योग्य आवेदको का आवेदन पहले सेंट्रल नोडल एजेंसी को भेजा जाएगा, मंजूरी मिलने पर एजेंसी सब्सिडी की रकम कर्ज देने वाले बैंक को दे देगी यह रकम आपके लोन अकाउंट में आ जाएगी. अगर आपकी सालाना आमदनी 7 लाख है और लोन की रकम 9 लाख, तो आपकी सब्सिडी रकम 2.35 लाख रुपए बनेगी. इसे घटाने के बाद आपके लोन की रकम 6.65 लाख रुपए बचेगी, जिस पर आप मासिक किस्त भरेंगे. अगर लोन की रकम आपकी सब्सिडी की योग्यता से अधिक है, तो अतिरिक्त रकम पर आपको सामान्य दर से ब्याज चुकाना पड़ेगा.

पीएम आवास योजना के बारे में आवेदन की स्तिथि को जानने की प्रक्रिया:

अगर आपने शहर में पीएम आवास योजना के तहत घर खरीदा है तो आपको क्लैप आईडी जानना जरूरी है. अगर आपको बैंक से क्लैप आईडी मिल गई है, तो सबसे पहले आप http://pmayuclap.gov.in पर लॉगिन करना पड़ेगा. उपरोक्त वेबसाइट पर क्लैप आईडी को बताए गए लोकेशन पर एप्लीकेशन आईडी को भरकर जांच कर सकते है. इसके बाद एप्लीकेशन स्टेटस पर जाकर गेट स्टेटस चेक कर सकते हैं. फिर आपको आपके रजिस्टर्ड मोबाइल नंबर पर एक ओटीपी मिलेगा, बताए गए स्थान पर ओटीपी डालकर क्लिक करें और उसको वेरिफाई कर लें. इसके बाद आपको एप्लीकेशन के स्टेटस के बारे में जानकारी मिल जायगी.

पीएम आवास योजना से जुड़ी अन्य अहम जानकारियां

भारत सरकार ने साल 2015 में प्रधानमंत्री आवास योजना की शुरुआत की थी. योजना को तीन चरणों में बांटा गया है. योजना का पहला चरण जून 2015 शुरू हुआ, जो मार्च 2017 खत्म हो गया। दूसरा चरण अप्रैल 2017 में शुरू हुआ और मार्च 2019 में खत्म हो गया. तीसरा और आखिरी चरण अप्रैल 2019 में शुरू किया गया और मार्च 2022 तक खत्म हो जाएगा.

पीएम आवास योजना विशेषताएं और लाभ

मध्यम आय वर्ग (एमआईजी) के लिए, घरों के अधिग्रहण और निर्माण ( दोबारा खरीदने सहित) के लिए होम लोन पर पीएम आवास योजना सब्सिडी प्रदान की जाएगी. आर्थिक रूप से कमज़ोर वर्ग (EWS)/ कम आय वाले वर्ग (LIG) को घर के निर्माण और अधिग्रहण के लिए हाउसिंग लोन के ब्याज पर सब्सिडी दी जायगी. इंक्रीमेंटल हाउसिंग के रूप में वर्तमान निवास स्थान में ने निर्माण और अतिरिक्त कमरे, रसोईघर, शौचालय आदि के लिए भी होम लोन पर क्रेडिट लिंक सब्सिडी का लाभ उपलब्ध होगा. ब्याज सब्सिडी का लाभ बकाया मूल राशि पर पहले मिलेगा

प्रधानमंत्री आवास योजना 2021 के बारे में

भारत सरकार द्वारा प्रधानमंत्री आवास योजना की स्कीम महंगे रियल सेक्टर की अपेक्षा सस्ते घरों को बढ़ावा देने के उद्देश्य से शुरू की गई थी. इस स्कीम का उद्देश्य महात्मा गांधी की 150 वीं जयंती के उपलक्ष में 31 मार्च 2022 तक देशभर में 20 मिलियन घरों का निर्माण करके सबके लिए घर ( हाउसिंग फॉर ऑल) के अपने उद्देश्य को प्राप्त करना है. क्षेत्रों की आश्यकताओं के आधार पर, इस योजना को 2 भागो में बांटा गया है: शहरी और ग्रामीण.

Leave a Reply

Your email address will not be published.

Back to top button