अर्थशास्त्र

श्रीराम प्रॉपर्टीज लिमिटेड आईपीओ – Shriram Properties Limited IPO

Shriram Properties Limited IPO in Hindi

सन 1970 के दशक में तीन दोस्तों ने मिलकर एक चिट फंड कारोबार में कदम रखा, समय के साथ, यह छोटा सा व्यवसाय श्रीराम समूह नामक एक वित्तीय समूह के रूप में विकसित हुआ, समूह की रियल एस्टेट इकाई श्रीराम प्रॉपर्टीज अब 600 करोड़ रुपये के आईपीओ के साथ एक्सचेंजों में दस्तक देने के लिए तैयार है. कंपनी मुख्य रूप से बेंगलुरु और चेन्नई जैसे शहरों में मध्य-बाजार और किफायती क्षेत्रों पर ध्यान केंद्रित करती है. कंपनी के वित्तीय प्रदर्शन महामारी की वजह से प्रभावित हुआ है और यह पिछले दो साल से अधिक नुकसान का सामना करना पड़ा है.

आईपीओ खरीदने के लिए टाटा (Upstox) के एप्प से लेले – क्लिक करे Upstox 

2000 के दशक की शुरुआत में, भारतीय अर्थव्यवस्था तेजी से ऊपर की ओर थी और अचल संपत्ति की कीमतें बढ़ रही थीं, इसी लहर पर सवार होकर श्रीराम प्रॉपर्टीज ने इस क्षेत्र में कदम रखा. इसे पीई निवेशकों टीपीजी, टाटा कैपिटल, वाल्टन स्ट्रीट कैपिटल और स्टारवुड से भी वित्तीय सहायता मिली है.

कंपनी दक्षिण भारत में शीर्ष पांच रियल एस्टेट कंपनियों में से एक के रूप में विकसित हुई है. वर्तमान में उसके पास में 35 परियोजनाएं हैंचल रहे है.

श्रीराम प्रॉपर्टीज लिमिटेड आईपीओ (Shriram Properties Limited IPO)

● 125 → न्यूनतम मात्रा
● ₹113 – ₹118 → मूल्य सीमा
● ₹600 → करोड़ आईपीओ आकार

आप इस कंपनी के कम से कम 125 स्टोके का एक लोट ले सकते हो, इसकी स्टॉक की कुछ कीमत ₹113 – ₹118 के बिच रहेगी मतलब एक लोट के लिए आपको कम से कम 14,750 रुपय देने होंगे, इस आईपीओ द्वारा कंपनी ₹600 करोड़ रुपय जुटाना चाहती है.

श्रीराम प्रॉपर्टीज लिमिटेड व्यापार की कुछ विशेषता

● दो दशक पुरानी रियल एस्टेट कंपनी, जो मध्य-बाजार और किफायती आवास श्रेणियों पर ध्यान केंद्रित करती है.
● दक्षिण भारत में अग्रणी रियल एस्टेट कंपनी है, इनका प्रमुख बाजार बेंगलुरु और चेन्नई में हैं.
● श्रीराम समूह और प्रमुख निवेशकों द्वारा समर्थित है.

श्रीराम प्रॉपर्टीज लिमिटेड कंपनी वित्तीय स्थिति

राजस्व: FY19 में कंपनी का प्रॉफिट 650 करोड़ था जिस में से 49 करोड़ उसका नेट प्रॉफिट था.
राजस्व: FY20 में कंपनी का प्रॉफिट 572 करोड़ था जिस में से (-86) करोड़ उसका नेट प्रॉफिट था.
राजस्व: FY21 में कंपनी का प्रॉफिट 432 करोड़ था जिस में से (-68) करोड़ उसका नेट प्रॉफिट था.

श्रीराम प्रॉपर्टीज लिमिटेड कंपनी की ताकत (Strength)

● परियोजना की पहचान में मजबूत क्षमताओं का प्रदर्शन किया, FY17 और FY21 के बीच इसकी प्री-सेल्स वॉल्यूम 22.6% CAGR से बढ़ी थी.
● यह कंपनी बहोत अच्छे मॉडल तयार करती है और उसके साथ साथ अच्छी सेवाओं भी प्रदान करती है.
● यह परियोजना राजस्व के 10% और 16% के बीच के शुल्क के लिए छोटे रियल एस्टेट डेवलपर्स और अन्य भूमि मालिकों को रियल एस्टेट सेवाएं प्रदान करती है.

श्रीराम प्रॉपर्टीज लिमिटेड कंपनी के जोखिम (Weakness)

● वायरस का नया संस्करण कारोबार को प्रभावित कर सकता है.
● रियल एस्टेट विकास गतिविधियां मुख्य रूप से दक्षिण भारत में केंद्रित हैं.
● प्रेस्टीज एस्टेट्स, ब्रिगेड एंटरप्राइजेज, एम्बेसी, पूर्वांकरा जैसे बड़े डेवलपर्स से प्रतिस्पर्धा का सामना करना पड़ता है.
● शीर्ष पांच परियोजनाओं ने हाल के वर्षों में भारी मात्रा में राजस्व में योगदान दिया है. पिछले तीन वर्षों में औसतन 80%.

बेंगलुरु और चेन्नई जैसे प्रमुख बाजारों में श्रीराम प्रॉपर्टीज में रेरा के कार्यान्वयन के बाद शीर्ष 20 खिलाड़ियों की हिस्सेदारी में काफी सुधार हुआ है. इसके अलावा, कम ब्याज दरों और शहरी आवास की मांग में कमी से श्रीराम प्रॉपर्टीज जैसे संगठित खिलाड़ियों को लाभ होने की उम्मीद है. 2021 की तीसरी तिमाही में 32,863 आवासीय इकाइयों की नई लॉन्चिंग देखी गई, जो तिमाही-दर-तिमाही 21% अधिक है.

और पढ़े –

भारत में 5 अच्छे ट्रेडिंग ऐप – Best Trading App In India

SIP क्या है फायदे और पूरी जानकारी – SIP Kya hai Hindi

Leave a Reply

Your email address will not be published.

Back to top button